हिन्दू नव वर्ष

विक्रम सम्वत२०७८

शक सम्वत१९४३

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा

दिन मंगलवार

नव वर्ष की शुरुआत हो और वर्ष के राजा और मंत्री दोनों, मंगल ही नियुक्त किये जाएं तो तमाम बाधाओं के बीच एक उम्मीद तो बंधती है|

‘मगि गतौ इति मंगल’, हमारा हर कदम आगे बढ़े, हम जड़ न हो जाएं बल्कि कदम, कदम आगे बढ़ते जाएं| उन्नति और प्रगति के पथ पर अग्रसर हों| हम उत्तरोत्तर आगे बढ़ते जाएं|

वृषभ लग्न की कुंडली और लग्न में मंगल के साथ राहु| चतुर्थेश, एकादश भाव में चंद्र के साथ और शनि से दृष्ट|नवांश में चतुर्थेश और चंद्र दोनों पर अष्टम भाव से मंगल का प्रभाव|

तमाम विकट परिस्थितियों के मध्य अभ्युदय का मार्ग प्रशस्त हो!

नव वर्ष मंगलमय हो!!