राष्ट्रों के वरीयता क्रम में बड़ा फेर बदल

World Map, Continent And Country Labels Poster by Globe Turner, Llc

चंद्र वर्ष प्रवेश कुंडली ..( वर्तमान वर्ष )..

भारत,चीन,अमेरिका और रूस..

इन चारों राष्ट्रों की चलने वाली दशा और चंद्र वर्ष प्रवेश कुंडली का तुलनात्मक अध्ययन करने के बाद इनके लिए ग्रहों के क्या संकेत हैं..

आइए देखें..

A – भारत ( कुंडली में ध्यानस्थ ग्रह – शनि, बुध,केतु )

1 -कोरोना विषाणु संक्रमण को लेकर यह संकेत मिल रहा है कि इसकी शुरुआत देश में दिसंबर माह से ही हो चुकी होगी ।

2 – lockdown खुलने के बाद जब आवाजाही शुरू होगी स्थिति अराजक होगी ।

3 – सरकार द्वारा अगस्त माह में कुछ और कठोर निर्णय लिए जाने का और उन निर्णयों का उग्रता से पालन किए जाने का संकेत ।

4 – भारत का, अपनी बेहतर कूटनीति और राजनीति की वजह से विश्व राजनीति में एक नये समीकरण के सफल गठनकर्ता के रूप में उभर कर सामने आने का संकेत।

B – चीन ( कुंडली में ध्यानस्थ ग्रह – बुध, केतु और शुक्र )

1 – वर्तमान कोरोना विषाणु संक्रमण को लेकर यह संकेत मिल रहा है कि इसकी शुरुआत देश में सितम्बर माह के अंतिम सप्ताह में हो गई होगी ।

2 – छद्म युद्ध की तैयारी शुरू करने का संकेत है ।

C – अमेरिका ( कुंडली में ध्यानस्थ ग्रह हैं – बुध और केतु )

1 – वर्तमान कोरोना विषाणु संक्रमण की शुरुआत अमेरिका में दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह में हो गई होगी।

2 – सरकार द्वारा कुछ ऐसे क्रियाकलापों को समर्थन दिया जाने का और उसकी वजह से आंतरिक अस्थिरता और अराजक स्थिति तैयार होने का संकेत ।

3 – अमेरिकी सरकार का विवादों से फिलहाल मुक्ति नहीं मिलने का संकेत ।

D – रूस ( कुंडली में ध्यानस्थ ग्रह हैं – शनि, बुध और केतु )।

इन सबके बीच रूस मानसिक युद्ध की व्यूह रचना कर रहा है और खुद को निरपेक्ष दिखाने की कोशिश करेगा।

अमेरिका में आगे आने वाला चुनाव, सीरिया को लेकर रूस का रूख और चीन के साथ उसका संबंध..

रूस की गतिविधियों पर गिद्ध दृष्टि रखे जाने का संकेत..

खासकर 12 मई से 8 जुलाई का समय ..

विश्व राजनीति में वरीयता क्रम में राष्ट्रों के नाम में उलट फेर पर हम सब अपनी दृष्टि बनाए रखें..

@B Krishna