DECODING SARVATOBHADRA CHAKRA

 

Image result for sarvatobhadra chakra image

I am working on SARVATOBHADRA CHAKRA since the last few years. Though enough work still remains to be done, yet the results are encouraging.

SARVATOBHADRA CHAKRA :

 

9*9 के 81 खाने नक्षत्र, राशि ‘तिथि,वार और नामांक्षर से मिलकर बने हुए। यहाँ fixed format नही होता बल्कि हर नक्षत्र के व्यक्ति के लिए यह पाँचो तत्व अलग अलग जगहों में चले जाते हैं। शुरुआत में मुश्किल जान पड़ता है पर धीरे धीरे सरल हो जाता है।
यहाँ वेध की प्रमुखता है। वेध सिर्फ नक्षत्रो को ही नहीं बल्कि ऊपर वर्णित पाँचो तत्वों को। शुभ या अशुभ इसकी जानकारी सिर्फ राष्ट्र के संदर्भ में ही नही बल्कि व्यक्ति विशेष के जीवन में घटने वाली हर प्रकार की घटनाओं के लिए किया जा सकता है। राष्ट्र के लिए उसकी शुरू होने वाली दशा चैत्र शुक्ल प्रतिपदा की कुंडली के साथ सर्वतोभद्र चक्र का विश्लेषण बहुत ही सटीक जानकारी देता है। उसी प्रकार व्यक्ति की दशा के साथ इस कुंडली का विश्लेषण सटीक जानकारी देता है।
विगत कुछ वर्षों से इसके हर पहलू को जानने का मेरा प्रयास काफी उत्साहवर्धक रहा।
राष्ट्र के लिए इस कुंडली से शुभ या अशुभ इसका ज्ञान और कूर्म चक्र से दिशा का भान । इस बार इसके आधार पर महाराष्ट्र,गुजरात और कर्नाटक को इंगित किया था जिसकी चर्चा मैने पहले की है।
उदाहरण स्वरूप कुछ घटनाएं ..( जब उपर्युक्त पांचों तत्वों में से लगभग सभी शनि,राहु, केतु,मंगल से वेध में गए )

1- Mandal commission agitation ( September’1990)

2- Patidar reservation agitation ( july ‘2015)

3- Jat reservation agitation ( February ‘2016)

4- Ranchi Hatia riot ( April ‘1967)

5- Gujrat riot ( September ‘1969)

6- Gujrat riot ( February ‘2002)

7- Hyderabad riot ( December 1990)

8- Aligarh riot ( December 1990)

9- Gonda riot ( September1990)

10- Bombay riot ( December ‘1992)

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा ‘2019 & 2020 की कुंडली से फिर से इस प्रकार के घटनाओं के घटित होने हेतु भूमिका तैयार मिलती है।
अर्थात फिर से ग्रहों द्वारा कुछ समान पैटर्न के बनाए जाने की पुनरावृत्ति दिखती है। इस वर्ष का दिसंबर माह देश के स्वास्थ्य को लेकर परेशान करने वाला होगा ।ऐसी बीमारी जो 2020 में और बढेगी।