अप्रत्याशित और अराजक स्थिति

Youtube से लेकर facebook तक हर जगह नरेन्द्र मोदी जी की कुंडली की चर्चा की जा रही है। हर कोई कह रहा है कि यह कुंडली बहुत ही विश्वसनीय सूत्र से प्राप्त हुआ है। कोई कोई तो यह भी कह रहे हैं कि खुद मोदी जी ने दिया है ..
वृश्चिक लग्न और तुला लग्न के कुंडली की चर्चा हर कोई कर रहे हैं।
जहाँ तक वृश्चिक लग्न के कुंडली की बात है उसकी चर्चा करते वक्त लोग यह देखना कैसे भूल जाते हैं कि यह एक मनोरोगी की कुंडली है। इसलिए यह मोदी जी की कुंडली नही हो सकती।
 तुला लग्न के कुंडली में शादी और संतान दोनों दिखाई देते हैं इसलिए यह भी मोदी जी की कुंडली नही हो सकती।
 दिन रात गलत कुंडली पर चर्चा करके दिशा से भटके नही ..
 सही दिशा,सही राह पर चलना है और यह चर्चा करना है कि भाजपा की स्थिति 2014 के मुकाबले कमजोर हो रही है तो सहयोगियों की मदद से बनने वाली सरकार में क्या प्रधानमंत्री मोदी जी फिर से प्रधानमंत्री रहेंगे ?? यह देखना कोई आसान काम नहीं है क्योंकि इसके लिए बहुत सारे data चाहिए ..
 ग्रहों ने हमें पहले ही अप्रत्याशित गठबंधन और उससे भी ज्यादा अप्रत्याशित परिणाम का संकेत दिया है ..
सूर्य का वृषभ संक्रांति और मिथुन संक्रांति देश में अराजकता,हिंसा और दंगे की स्थिति बना रहा है। इसका भी संकेत ग्रहों ने पहले ही दे दिया है ..और सूर्य का वृषभ संक्रांति के साथ ही पश्चिम बंगाल की घटनाओं को देख ही रहे हैं ..
 भारत के अष्टम भाव में दशमेश शनि का गोचर ..केतु के साथ और द्वितीय भाव से सप्तमेश मंगल की दृष्टि..भीतरघात ..देश की दिशा किधर है ..बखूबी समझा रहे हैं ..
गृहयुद्ध की स्थिति तैयार हो रही है ..
14 June को सूर्य का मिथुन राशि की तरफ बढ़ना और सभी ग्रहों का एक दूसरे के साथ अंशात्मक नजदीकी ,असंतुलित राजनैतिक गतिविधियों के साथ साथ असंतुलित प्रकृति का भी संकेत दे रहे हैं ..
तेज हवा / बारिश की स्थिति तैयार ..
सूर्य का संक्रांति और दंगे का संकेत भी अप्रत्याशित गठबंधन का समर्थन करता है ..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s