Trust और Truth के साथ ज्योतिष की खोज…


आसान तो नहीं पर मुश्किल भी नहीं।Nick Davies द्वारा लिखित किताब Flat Earth News ,Rupert Murdoch के सत्ता बनाने की कहानी है। किस तरह अपना empire खड़ा करने के लिए वे सरकार का इस्तेमाल करते हैं। ज्योतिष के क्षेत्र में समसामयिक जान पड़ता है।हमें सिर्फ और सिर्फ अपने कद को बड़ा करना है,अपनी काबलियत से नहीं बल्कि सत्ता के करीब जाकर उसे इस्तेमाल करके। अच्छा संकेत नहीं है। सच के खोज में हमें सत्ता के करीब नहीं बल्कि हमारी जड़ो में लौटना होगा। अंग्रेजी छोड़कर संस्कृत को समझना पड़ेगा । रामचरितमानस और गीता के साथ साथ वेद और पुराण को अपना आधार बनाकर यात्रा की शुरुआत करनी होगी।राव सर ने बार बार देश , काल और पात्र की बात कही है।इसे हर वक़्त ध्यान में रखना होगा।शब्दों के सही मायने को समझना होगा । राम के काल में संतान जन्म के जिस व्यवस्था में ॠषि वशिष्ठ स्वयं न उतरकर श्रृंगी ॠषि को उतारते हैं वहीं कृष्ण के काल में व्यास स्वयं उस व्यवस्था में उतरते हैं।काल बदला,व्यवस्था में बदलाव हुआ। उसी तरह पराशर होरा शास्त्र में एक योग का वर्णन करते हुए डाकिनी शब्द का प्रयोग किया है।डाकिनी शब्द के सीधा सीधा अर्थ की व्याख्या अशुभता की ओर ले जाता है पर इसके गहराई में जाएंगे तो पाएंगे की डाकिनी के साथ पोतक जुड़ा है अर्थात् जो आपके छोटे छोटे पापों को खा जाती हैं।मायने बदल गया।अशुभ से शुभ हो गया।पहले से बना हुआ विश्वास कुछ और है और सच कुछ और।
समय आज फिर रावण को अपने अंदर आने का न्योता दे रहा है । रावण अर्थात् दस सिर के समान सोचने की क्षमता और बीस हाथ के समान क्रियाशील होकर रव अर्थात् तेज आवाज ,मुखर आवाज के साथ पुरातन शास्त्रों को आधार बनाकर नई रचनाओं को रचने का,काल के अनुसार नए ग्रंथों को रचने का।सच को सामने लेकर आने का। ऐसा करना ही होगा,नहीं तो अमृता प्रीतम की ये पंक्तियां पूर्णतः चरितार्थ हो जाएंगी ” कभी कश्मीर के बदन में उसकी नब्ज बोलती थी … अब सारे वैध हारे हैं । अब कश्मीर के बदन में उसकी नब्ज नहीं मिलती “
रावण आएगा तभी तो राम आएंगे ..
ज्योतिष के साथ विश्वास और सच होगा ..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s