RAMCHARITMANAS AND ASTROLOGY

रामचरितमानस और ज्योतिष ..
धूम की चर्चा ..
” धूम कुसंगति कारिख होई । लिखिअ पुरान मंजुमसि सोई ।। “

धुँआ जब दीवार पर लगता है कालिख बनता है लेकिन इसी कालिख को स्याही बना लेते हैं तो उसी कालिख से वेद-पुराण लिखे जाते हैं।
धूम का जिक्र होते ही अशुभ फलों की चर्चा की जाती है पर रामचरितमानस में धूम के शुभ और अशुभ दोनों फलों का वर्णन ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s