जीवन.. प्रवाह (Flowchart)

FLOWCHART - "a diagram that shows the stages of a process" फ्लोचार्ट के माध्यम से, किसी भी प्रक्रिया के भिन्न भिन्न अवस्थाओं को सरल और सहज तरीके से  समझा जा सकता है| ज्योतिष में, जीवन के भिन्न भिन्न अवस्थाओं को कुंडली( flowchart) के माध्यम से बड़ी ही सरलता और सहजता से समझा जाता है|  "पश्यन्शृण्वन्स्पृशन्जिघ्रन्नश्नन्गच्छन्स्वपन्श्वसन्" …

Continue reading जीवन.. प्रवाह (Flowchart)

स्मार्ट फोन

फोटो, साभार: Google आज मेरे स्मार्ट फोन ने हमें भी थोड़ा स्मार्ट बनाया| कुछ बातों को समझने में मेरी मदद की| हुआ यूँ कि मैंने अपने फोन को चार्ज में लगाया| १००% चार्ज हो जाने पर उसे चार्ज से हटाकर ले आयी और बगल में रखके अपनी पढाई शुरू की| दस मिनट के बाद फोन …

Continue reading स्मार्ट फोन

पर्यावरण और ज्योतिष

फोटो, साभार: Google ज्योतिष में राशियों को उनके तत्वों के आधार पर अग्नि तत्व राशि , पृथ्वी तत्व राशि, वायु तत्व राशि और जल तत्व राशि में बांटा गया है। इन सभी में निहित गूढ़ार्थ को समझने की जरूरत है। इन सबके बीच उपस्थित आकाश तत्व को समझने की जरूरत है। अकेले पृथ्वी तत्व को …

Continue reading पर्यावरण और ज्योतिष

विश्व पर्यावरण दिवस

फोटो, साभार: Google ॐ द्यौ: शान्तिरन्तरिक्षं शान्ति: पृथिवी शान्तिराप: शान्तिरोषधय: शान्ति:। वनस्पतय: शान्तिर्विश्वेदेवा: शान्तिर्ब्रह्म शान्ति: सर्वं शान्ति:, शान्तिरेव शान्ति: सा मा शान्तिरेधि ॥ सर्वत्र जो शांति विराजमान है, वो शांति जो बाहर तो सब जगह है किंतु मुझमें नहीं है, मेरे भीतर नहीं है। वही शांति मुझे भी प्राप्त हो। ॐ शान्ति: शान्ति: शान्ति: ॥ …

Continue reading विश्व पर्यावरण दिवस

अपने स्वास्थ्य के नियंता स्वयं बनिए

कोरोना संक्रमण से बाहर आने के बाद सोचती कि अब लिखना शुरू करना है, कोई ऐसी खबर आ जाती कि फिर लिखना रह ही जाता था| लेकिन इससे हमें बाहर तो आना होगा| इस तरह तो जिया नहीं जा सकता| हिम्मत करके मैंने लिखने का मन बनाया है| इस आलेख को लिखने के पीछे कुछ …

Continue reading अपने स्वास्थ्य के नियंता स्वयं बनिए

हिन्दू नव वर्ष

विक्रम सम्वत - २०७८ शक सम्वत - १९४३ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा दिन मंगलवार नव वर्ष की शुरुआत हो और वर्ष के राजा और मंत्री दोनों, मंगल ही नियुक्त किये जाएं तो तमाम बाधाओं के बीच एक उम्मीद तो बंधती है| 'मगि गतौ इति मंगल', हमारा हर कदम आगे बढ़े, हम जड़ न हो जाएं बल्कि …

Continue reading हिन्दू नव वर्ष

होलिका दहन

(फोटो, साभार: google ) नंदी ओ नंदी कहाँ हो तुम .. वशिष्ठ बाबू ने अपनी दुलारी पोती नंदी को आवाज दी।बस यहीं हैं बाबा। खाना खा रहे हैं। बताइए क्या बात है।अच्छा अच्छा, खाना खा लो फिर आओ आज तुमको एक जादू के बारे में बताएंगे।आप तो ज्योतिष के बारे में बता रहे थे न …

Continue reading होलिका दहन